मल्टीनेशनल कम्पनी में नौकरी के साथ ही कैसे “द कपिल शर्मा शो” के स्क्रिप्ट राइटर बने – एकाग्र शर्मा 

एक कहावत लोग कहते हैं, "मनुष्य को कमाने-खाने के साथ ही सपनों को भी जीवित रखना चाहिए।"  जैसे पानी के बिना मनुष्य जीवित नहीं रह सकता है, वैसे ही बिना सपनों...

हिंदुस्तानी शास्त्रीय नृत्य कला भरतनाट्यम एवं कथक  कि सेवा और प्रचार जीवन लक्ष्य है – रजनी महाराज

कलाकार वह है, जो कला को आकार दे। एक सच्चे कलाकार कि कला ही उसके लिए सम्पूर्ण सृष्टि बन जाती है। अब...

ग्वालियर के शाकुल बास्केटबॉल कोच से कैसे बने तेलुगू फिल्म के हीरो, ओर कैसे सीखी तमिल – शाकुल शर्मा

मन में लगन हो तो सबकुछ आसान होने लगता है, जिसका एक उदाहरण अब हमारे साथ है। हम...

मल्टीनेशनल कम्पनी में नौकरी के साथ ही कैसे “द कपिल शर्मा शो” के स्क्रिप्ट राइटर बने – एकाग्र शर्मा 

एक कहावत लोग कहते हैं, "मनुष्य को कमाने-खाने के साथ ही सपनों को भी जीवित रखना चाहिए।"  जैसे...

हिंदुस्तानी शास्त्रीय नृत्य कला भरतनाट्यम एवं कथक  कि सेवा और प्रचार जीवन लक्ष्य है – रजनी महाराज

कलाकार वह है, जो कला को आकार दे। एक सच्चे कलाकार कि कला ही उसके लिए सम्पूर्ण...

सोशल मीडिया पर अनमोल ठाकुर ने कैसे रचा “छोटी जीजी का किरदार” – अनमोल ठाकुर

यदि किसी में कला है, तो उसको किस तरह दुनिया के सामने रखा जा सकता  है, ओर...

कामयाबी

कामयाबी की सीढ़ियों पर कितना संघर्ष करके चढ़ा जाता है, ऐसे ही कुछ संघर्षों के जीवंत उदाहरण के रूप में "अपनी पहचान" हमारे समाज के सामने लाने वाला है

फोन से विडियो बनाने से कैसे वेबसीरिज के डायरेक्शन की शुरुआत की – सुखवंत कत्थी ( सुख )

बात करें सन् 2012 से 2014 के समय की तो उस वक्त में मोबाइल ओर इंटरनेट का इतना प्रचलन नहीं था। विडियो बनाने...

मल्टीनेशनल कम्पनी में नौकरी के साथ ही कैसे “द कपिल शर्मा शो” के स्क्रिप्ट राइटर बने – एकाग्र शर्मा 

एक कहावत लोग कहते हैं, "मनुष्य को कमाने-खाने के साथ ही सपनों को भी जीवित रखना चाहिए।"  जैसे पानी के बिना मनुष्य जीवित नहीं...

छोटे-छोटे प्रयासों से समाज को दिशा देते समाजसेवी – संजय नीमा

जिस तरह मानव का जीवन बिना समाज के अधूरा है, उसी तरह समाज भी समाजसेवियों के बिना अधूरा है, समाज के लिए समर्पित...

वीमेन

आज महिलाएं हर क्षेत्र में कदम से कदम मिलाकर अपना वर्चस्व दिखा रही है, ओर जितनी शीघ्रता से समाज उन्हें सम्मान के साथ अपना रहा है, तो महिलाएं भी हर जगह अपनी अमिट छाप छोड़ रही है।

हिंदुस्तानी शास्त्रीय नृत्य कला भरतनाट्यम एवं कथक  कि सेवा और प्रचार जीवन लक्ष्य है – रजनी महाराज

कलाकार वह है, जो कला को आकार दे। एक सच्चे कलाकार कि कला ही उसके लिए सम्पूर्ण सृष्टि बन जाती है। अब चाहे...

सोशल मीडिया पर अनमोल ठाकुर ने कैसे रचा “छोटी जीजी का किरदार” – अनमोल ठाकुर

यदि किसी में कला है, तो उसको किस तरह दुनिया के सामने रखा जा सकता  है, ओर आजकल सोशल मीडिया का सही इस्तेमाल...

बिहार की लोकगायिका कैसे बनी मिसेज इंडिया, ओर अब मिसेज इंटरनेशनल में करेंगी भारत का प्रतिनिधित्व – बबिता मिश्रा

हम आज आपसे बात कर रहे हैं, बिहार की बबिता मिश्रा जी की, जो वहाँ प्रसिद्ध लोक गायिका है। जिनकी गायिकी का सफर...

लाइफस्टाइल

हम जिस युग में जी रहे हैं, यहां बिना लाइफस्टाइल के सबकुछ अधूरा - अधूरा सा लगता है। फैशन के इस समय में "अपनी पहचान" ने कुछ ऐसी हस्तियो को शामिल किया हैं, जो फैशन जगत में अपना नाम बुलंदियों पर स्थापित कर रहे हैं।

मिस इंडिया प्रतियोगिता छोड़ सृष्टि ने क्यों की मेकओवर स्टूडियो की शुरुआत – सृष्टि अनंत संजर

फैशन के दौर में जहाँ लोग मेकओवर की तरफ जिस तरह से आकर्षित हो रहे हैं। उसी से जुड़ी हम एक शख्सियत के...

टैलेंट

हमारे समाज में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है, बस अपनी पहचान" का कार्य उन सभी के सपनों को और उनकी छुपी हुई कलाओं को दुनिया के सामने ले कर आने का है

बिहार से आर्टिस्ट बनने निकले अविनाश किन हालातों से लड़ते हुए, आज इंडिया टूडे में अपनी पहचान बना रहे हैं। – अविनाश...

जिस व्यक्ति में ना हारने का जज्बा ओर निजी समय में से समय बचाकर समय का उपयोग करने की प्रतिभा हो।       ऐसे व्यक्ति से...

फैक्ट्री में काम करने गुरी कैसे बने पंजाब म्यूजिक इंडस्ट्री के लिरीक्स राईटर – योर्स गुरी

संगीत के तो हम सभी प्रेमी होते हैं, संगीत सुनते वक्त अक्सर लगता है, कि कितनी गहराई में सोच कर इस गाने को...

खेल

खेल जगत के कुछ ऐसे चेहरे जो छोटे शहरों ओर सामान्य मध्यमवर्गीय परिवार से होते हुए भी, खेल जगत में अपने देश का नाम पूरी दुनिया मैं रोशन कर रहे हैं।

ग्वालियर के शाकुल बास्केटबॉल कोच से कैसे बने तेलुगू फिल्म के हीरो, ओर कैसे सीखी तमिल – शाकुल शर्मा

मन में लगन हो तो सबकुछ आसान होने लगता है, जिसका एक उदाहरण अब हमारे साथ है। हम बात कर रहे हैं, शाकुल की...

क्रिकेट ग्राउंड में चोट के बाद क्रिकेटर से कैसे क्रिकेट कोच बने – अतुल त्यागी

कहा जाता है, की एक सपना टूटने के बाद फिर एक सपना देखना ओर उसे पूरा करना ही, जिंदगी का सफर कहलाता है।  ऐसे...

गुजरात के छोटे से गांव से निकलकर विपुल ने कैसे बनाया क्रिकेट में वर्ल्ड रिकार्ड – विपुल नारीगरा

क्रिकेट तो हम सभी ने बचपन में खेला ही होगा, कुछ लोगों का बचपन में सबसे पसंदीदा खेल भी यही हुआ करता था।  आज हम ...

बिज़नेस

अपने व्यवसाय के लिए जिन व्यक्तियों ने, शुन्य से शुरुआत करते हुए, अपने व्यवसाय को स्थापित किया है तथा नित नई सफलताओं के साथ आसमान को छू रहे हैं, ऐसे ही कुछ नाम "अपनी पहचान" के साथ शामिल है।

व्यवसाय को कैसे सफल बनाएं, मैनेजमेंट की सफलता के राज जाने पीयूष नीमा से – पीयूष नीमा

किसी भी व्यवसाय या उद्योग की सफलता का श्रेय किसी एक को ना जाकर हर उस व्यक्ति को जाता है, जो उसका हिस्सा...

कोटा की बेकरी में काम करने वाले प्रकाश कैसे पहुँचे दुबई की सबसे बड़ी कम्पनी में – प्रकाश मूलचंदानी

अक्सर, हालातों में मजबूरी जो काम करा लेती है, उनका सोचा जाना भी मुश्किल होता है। समय कभी इतना मुश्किल आ जाता है,...

फ़ूड

खाने-पीने के शौकीन तो अमूमन हम सभी होते हैं, वहीं फूड जगत के कुछ अनोखे किस्से ओर प्रतिष्ठान "अपनी पहचान" आपके लिए लेकर आ रहा है।

स्वाद को लेकर बरसों से कैसे शहर की शान बना हुआ है, पोरवाल भेलपुरी स्टाॅल ओर काॅफ़ी क्लब – सत्यनारायण पोरवाल

आप चाहे जिस शहर में भी जाए, वहाँ की चौपाटी अपने आप में ही आकर्षण का केंद्र होती है। वहाँ पर मिलने वाला...

कैसे एक मिठाई बन गई फाजिल्का शहर की शान – पाकपटृनियां दी हट्टी

एक बात अक्सर कही जाती है, कि आप किसी शहर गए और वहाँ के जायके या मिठाई का स्वाद नहीं लिया तो आपका...

नए पोस्ट

फोन से विडियो बनाने से कैसे वेबसीरिज के डायरेक्शन की शुरुआत की – सुखवंत कत्थी ( सुख )

बात करें सन् 2012 से 2014 के समय की तो उस वक्त में मोबाइल ओर इंटरनेट का...

ग्वालियर के शाकुल बास्केटबॉल कोच से कैसे बने तेलुगू फिल्म के हीरो, ओर कैसे सीखी तमिल – शाकुल शर्मा

मन में लगन हो तो सबकुछ आसान होने लगता है, जिसका एक उदाहरण अब हमारे साथ है। हम...

मल्टीनेशनल कम्पनी में नौकरी के साथ ही कैसे “द कपिल शर्मा शो” के स्क्रिप्ट राइटर बने – एकाग्र शर्मा 

एक कहावत लोग कहते हैं, "मनुष्य को कमाने-खाने के साथ ही सपनों को भी जीवित रखना चाहिए।"  जैसे पानी के बिना मनुष्य जीवित नहीं रह सकता है, वैसे ही बिना सपनों...

हिंदुस्तानी शास्त्रीय नृत्य कला भरतनाट्यम एवं कथक  कि सेवा और प्रचार जीवन लक्ष्य है – रजनी महाराज

कलाकार वह है, जो कला को आकार दे। एक सच्चे कलाकार कि कला ही उसके लिए सम्पूर्ण...

सोशल मीडिया पर अनमोल ठाकुर ने कैसे रचा “छोटी जीजी का किरदार” – अनमोल ठाकुर

यदि किसी में कला है, तो उसको किस तरह दुनिया के सामने रखा जा सकता  है, ओर...

व्यवसाय को कैसे सफल बनाएं, मैनेजमेंट की सफलता के राज जाने पीयूष नीमा से – पीयूष नीमा

किसी भी व्यवसाय या उद्योग की सफलता का श्रेय किसी एक को ना जाकर हर उस व्यक्ति...

छोटे-छोटे प्रयासों से समाज को दिशा देते समाजसेवी – संजय नीमा

जिस तरह मानव का जीवन बिना समाज के अधूरा है, उसी तरह समाज भी समाजसेवियों के बिना...

ताजा खबरों से अपडेट रहना चाहते हैं ?

हमें आपसे सुनना प्रिय लगेगा ! कृपया अपना विवरण भरें और हम संपर्क में रहेंगे। यह इतना आसान है!